अपनी पर्सनॅलिटी को कैसे अच्छा करें?

personality-development-in-hindi-badteraho.com

क्या कभी आपको ऐसा मेहसूस हुआ है कि काश मेरी personality भी उसकी तरह होती तो कितना अच्छा होता? काश में भी उसकी तरह handsome / beautiful होता या होती? या फिर आप Personality Development Tips in Hindi सर्च कर रहे हैं?

अगर आपका जवाब हां है, तो इसमें कोई अलग बात नहीं है, क्योंकि अक्सर ऐसी बातें दिमाग में आ ही जाती हैं। ये अक्सर सभी के साथ होता है। ख़ैर, आज हम आपको व्यक्तित्व विकास (Personality Development) के ऐसे टिप्स हिंदी में बताएंगे जिससे आपकी personality बिल्कुल बदल जाएगी। और आप अपने आपको पहले से बेहतर मेहसूस करेंगे।

आज की इस पोस्ट में हम ऐसे टिप्स बताएंगे जिन्हे कोई भी अपने ऊपर लागू कर सकते है। चाहे वो स्टूडेंट हो, हाउस-वाइफ हो, जॉब करते हो, बिजनेस करते हो या किसी भी फील्ड में हो। ये development tips आपको और आपकी ज़िन्दगी को पहले से बेहतर बनाएंगे।

Body-Language-Personality

Best Personality Development Tips in Hindi

व्यक्तित्व विकास एक दिन में नहीं होता, क्योंकि ये आपकी आदत में बदलाव होते हैं। इसलिए अपने आप से वादा करें कि रोज़ाना कुछ ना कुछ नया सीखना है और इन सभी टिप्स पर फोकस रखना है। कुछ समय बाद आप खुद अपने अंदर बदलाव देखेंगे।

और एक वक्त ऐसा भी आएगा जब लोग आपके जैसा बनना चाहेंगे। आपसे सीखना चाहेंगे और आपको फॉलो करने लगेंगे। दूसरे शब्दो में कहें तो आपको अपने अंदर सुधार लाना है जो दूसरे को प्रोत्साहित (Motivate) करें। हमारी है पोस्ट को पूरा पढ़ें और सभी टिप्स को अपने ऊपर लागू करें।

ये भी पढ़ें: पढ़ाई में कैसे मन लगाएँ

21 Best Personality Development Tips in Hindi

1. Be Happy || हमेशा ख़ुश रहें

हमेशा खुश रहें और दूसरों को भी खुशी देने की कोशिश करें। मिलजुल कर हँसी मज़ाक करें, लेकिन दूसरे किसी का मजाक न बनाएँ। ख़ुशनुमा इंसान की हमेशा तारीफ़ की जाती है।

2. Be Healthy || सेहतमंद रहें

अपने आप को हमेशा सेहतमंद और चुस्त रखें, क्योंकि अलसी लोगो के साथ कोई नहीं रहना चाहता। इसके लिए नियमित व्यायाम करें, साफ़ सुथरा स्वास्थ्यए वर्धक खाना खाएँ और पूरी नींद लें।

3. Be Patient || सब्र करें

“सब्र का फल मीठा होता है” ये बात आपने जरूर सुनी होगी। कभी भी किसी चीज़ के लिए जल्दबाज़ी ना करें। अक्सर जल्दबाज़ी में लिए गए फैसले नुक्सान साबित होते हैं। और जो गुज़र चुका है, उसके बारे में ज़्यादा न सोचकर आगे बढ़ें।

4. Be Polite || विनम्र बनें

अपनी काबिलियत को अपना अहंकार न बनाएँ। सबके साथ प्यार और मोहब्बत से बात करें और मुस्कुरा कर जवाब दें। अहंकार वाले इंसान को कोई पसंद नहीं करता है।

5. Be Honest || इमानदार बनें

दुनिया में भरोसा करना जितना मुश्किल है, उसे तोड़ना उतना ही आसान है। इसलिए कभी भी किसी को धोखा ना दें और ना ही किसी का भरोसा तोड़ें। क्योंकि एक बार भरोसा टूटने पर दोबारा भरोसा करना मुश्किल हो जाएगा।

6. Be Loyal || वफादार बनें

आप जो भी काम करें या करते हैं, उसके लिए ईमानदार बनें। यकीन मानिए आपको अपने काम में मज़ा आने लगेगा और उसमे दिलचस्पी भी बड़ जाएगी। आप अपने काम करने कि जगह पर पहले से ज्यादा अच्छा मेहसूस करेंगे।

7. Be Confident || अपने आप पर भरोसा रखें

अपने आप को पहचानें और खुद पर भरोसा रखें। अपनी काबिलियत पर कभी शक ना करें और ये सोचें कि “आप कर सकते हैं”। प्रेरक कहानियाँ पढ़ें, सफल लोगो के बारे में पढ़ें। आप अपने अंदर आत्मविश्वास महसूस करने लगेंगे।

Personality-Development-Tips-Creative
8. Be Creative || रचनात्मक बनें

अपने काम के साथ-साथ अपने शौक (Hobby) को कभी ना भूलें। अक्सर लोग जॉब में आने के बाद इतने व्यस्त हो जाते हैं कि वो अपने शौक के लिए टाइम ही नहीं निकल पाते हैं। जब आप रचनात्मक (Creative) होते हैं तो दूसरे भी आपसे सीखने की कोशिश करते हैं।

ये भी पढ़ें: प्लास्टिक की बोतल का प्लांटर कैसे बनाएँ

9. Be Good Listener || अच्छे श्रोता बनें

अच्छा श्रोता बनना थोड़ा मुश्किल है क्योंकि ज़्यादातर लोग किसी को समझने के लिए सुनना नहीं चाहते। जब भी आप किसी से बात करें तो ध्यान से उसकी बातों को सुनें और समझें। आँख से संपर्क (Eye Contact) बना कर रखें। आपकी personality के लिए ये एक बहुत ज़रूरी कदम है।

10. Be Positive Always || सकारात्मक बनें

हमेशा सकारात्मक (Positive) रहें और positive ही सोचें। और जब किसी से बात करें तो सकारात्मक ही बोले। नकारात्मक बोलने वाले इंसान से हर कोई दूरी बनाता है। सकारात्मक इंसान हमेशा सही नज़र से सही रास्ते को देखता है।

11. Be Punctual || अनुशाषित बनें

हमेशा समय के पाबंद रहें। जो लोग अक्सर हर काम को लेट करते हैं वो जिंदगी में हमेशा पीछे ही रहते हैं। किसी को अपने लिए इंतजार न करवाएँ और न ही कभी किसी के लिए लेट हों। जब आप समयनिष्ठ (Punctual) बनते हैं तो लोग आपके समय के अनुसार चलते हैं।

13. Keep Your Mind Open || अपना दिमाग खुला रखें

अपने फ़ैसले ख़ुद अपने दिमाग से लेना सीखें क्योंकि दूसरे के फ़ैसलो पर चलना अक्सर असफलता का बड़ा कारण है। दूसरों की बात को ध्यान से सुनें लेकिन हमेशा खुले दिमाग से सोच समझकर सलाह या जवाब दें। और रहमदिल बनें।

13. Develop Good Habits || अच्छी आदतों को अपनाएँ

कभी किसी की बुराई ना करे क्योंकि जो लोग दूसरों की बुराई करते हैं, उन्हें भी इसका सामना करना पड़ता है। दूसरों में गलतियाँ न निकालें बल्कि उन्हें सुधारने की कोशिश करें और माफ करते चलें। वरना आपको भी हमेशा खुद से शिकायत ही रहेगी।

13. Don’t Be Lazy || आलस्य न करें

किसी भी काम में अफसोस न करें क्योंकि जो वक़्त एक बार निकल जाता है वो दुबारा नहीं आता। दुनिया की सबसे कीमती चीज़ वक़्त है, इसे बरबाद ना करे। सफलता पाने के लिए पूरी कोशिश करें। ज़िन्दगी में हार जीत तो लगी रहती है इसलिए ये सोचकर कभी परेशान ना हों। और हमेशा आगे बढ़ने के लिए नए रास्ते देखें।

15. Don’t Be Greedy || लालच से बचें

लालच बुरी बाला है – ये कहावत तो आपने ज़रूर सुनी होगी और ये सच भी है इसलिए लालच से बचें। आपके पास जो है उसी में गुज़ारा करें। कोई भी गलत काम न करें क्योंकि उसका नतीजा हमेशा बुरा ही होता है और इंसान कभी खुश नहीं हो पाता। कुछ पाने के लिए मेहनत करें और काबिल बनें।

Personality-Development-Tips-Pinterest16. Don’t Compare || किसी से तुलना न करें

किसी से तुलना ना करें बल्कि अपने अंदर की गुणवत्ता को पहचानें। आपके पास कुछ तो ऐसा होगा जो दूसरे के पास न हो या दूसरे से अलग हो। मिसाल के तौर पर, कछुआ तेज नहीं भाग सकता, लेकिन बड़े से बड़े समुंदर को तैर ​​कर पार कर सकता है, ख़रगोश तेज़ भाग सकता है लेकिन छोटी से नदी भी पार नहीं कर सकता। इसिलिए आप जैसे भी हो, अपने और अपने माता-पिता के लिए लाखो में एक हो।

ये भी पढ़ें: फ्री स्टॉक फोटो वेबसाइट

17. Stay Cool in Tense Situations || मुश्किलों में हिम्मत से काम लें

मुश्किल वक़्त में समझदारी से काम लें। अक्सर लोग मुश्किल वक्त में जल्दी हार मान जाते हैं और दोबारा जीतने की कोशिश ही नहीं करते। लेकिन डर के आगे जीत है और हार कर जीतने वाले को बाज़ीगर कहते हैं। जल्दी हार मानने वाले इंसान कमज़ोर होते हैं।

18. Improve Your Communications || अपनी बातचीत का तरीका अच्छा करें

आप जो भी भाषा बोलते हैं, उससे कोई फर्क नहीं पड़ता। लेकिन आप दूसरे लोगो से कैसे बात करते हैं इससे ज़रूर फ़र्क़ पड़ता है। अगर आप हिंदी बोलते हैं तो सिर्फ हिंदी में बात करें और अगर अंग्रेजी बोलते हैं तो अंग्रेजी में बात करें। दोनो भाषा को आपस में मिक्स ना करें। अटक- अटक कर न बोलें। बोलने के लिए बेहतर शब्दों को चुनें।

ये भी पढ़ें: जामिया जर्नल में प्रकाशित

19. Improve Your Body Language || अपनी शारीरिक भाषा को सुधारें

Body Language यानी हाव-भाव एक तरह की शारीरिक भाषा है, जिसमें शब्द तो नहीं होते, लेकिन बिना कुछ कहे अपनी बात कह जाते हैं। बॉडी लैंग्वेज एक तरह से इंसान के व्यक्तित्व का आईना होती है। जैसे किताब के हर पन्ने में अलग-अलग बातें होती हैं, उसी तरह हाव-भाव के पीछे भी अलग-अलग अर्थ छिपे होते हैं। इसलिए हमारे चलने का तारिका, खाने का, देने का, इशारे करने का, सब बॉडी लैंग्वेज से जुड़ा है। लोग आपके बॉडी लैंग्वेज से काफी अट्रैक्ट होते हैं।

20. Dressing Sense || आपका पहनावा

आपका ड्रेसिंग सेंस ऐसा होना चाहिए जो आपके लिए आरामदायक (Comfortable)। आपके पास सस्ते कपड़े हैं या काम कपड़े हैं, इससे फ़र्क नहीं पड़ता। लेकिन जो भी हैं, साफ और आयरन किए हुए हों फिर भले ही आपके पास एक जोड़ी कपड़े ही क्यों ना हों।

21. Meet New People || नए लोगों से जुड़ें

लोगों से जुड़ने की कोशिश करें, इससे आपको बहुत कुछ सीखने को मिलेगा। हम अक्सर दूसरे लोगों से ही सीखते हैं। दूसरे लोगों से अच्छी बातें सीखें, और उनके अनुभव के बारे में जानें। और दूसरे लोग भी हमसे सीखते हैं।


आपको हमारी ये Personality Development Tips हिंदी में कैसे लगी, हमें कमेंट करके ज़रूर बताएँ। और आप अपने सुझाव भी हमें हमारी ईमेल mail@badteraho.com पर भेज सकते हैं।

0 Comments

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!